व्‍याकुल पीढ़ी की नस्‍लें – डॉ. जि‍तेन्‍द्र भगत

अलका सरावगी का अद्यतन उपन्‍यास ‘जानकीदास तेजपाल मैनशन’ (2015) कलकत्‍ता के बड़ाबाजार (सेंट्रल एवेन्‍यू) में स्‍थि‍त 80 परि‍वारोंवाली एक पुरानी जर्जर इमारत का नाम है। वह लगातार झुक रही है, […]

राकेशधर द्विवेदी की कविताएँ

एक साहित्यिक गोष्ठी का सारांश शहर के तमाम बुद्धिजीवियों कथाकारों और कवियों ने हिन्दुस्तान की समस्याओं को लेकर संगोष्ठी की मंच पर हिन्दुस्तान का नक्शा लगा हुआ था किसी ने […]

डॉ. दिग्विजय कुमार शर्मा “द्रोण” की कविता

अबकी बार इस बार मुझे लगा कि कैसे चीजें बार बार ज्यादा याद आती हैं और टूट टूट कर बुरी तरह से दिल को आहत पहुंचाती हैं। बाहर निकलकर जिधर […]

पुराना किला और चोर (कहानी) – संदीप शर्मा

दोनों ने पुराने किले के खंडहर की ओर कदम मोड़ लिए। भागते हुए एक चोर बोला,‘‘मैं कहता हूं एक बार सोच लो, क्या उसी ओर दौड़ना है। वहां तो पहले […]

स्कूटी की सवारी (बाल कविता) – नीरज त्यागी

नई स्कूटी लेकर आया राजू भालू, उसका दोस्त चिम्पू बंदर है बहुत चालू। मीठी बातों से राजू को बहकाता, रोज उसकी स्कूटी मजे से चलाता।। एक दिन चिम्पू का चौराहे […]

सुनील कुमार शर्मा की कविताएँ

प्रिय तुम हो कहाँ गगन कहाँ धरा पर ही वो मनोहर सौंदर्य खोजता हूँ । चुभन कहाँ मधुकलश लिये भावों का मैं घूमता हूँ । सखा तुम हो कहाँ ? […]

दृष्टिहीनता से मुकाबला मुश्किल नहीं – संजय सक्सेना

सर्वे भवंतु सुखिनः सर्वे संतु निरामया, सर्वे भद्राणि पश्यंतु, मा कश्चिद् दुःख भागभवेत..। हमारे देश में ईश्वर से प्रार्थना के दौरान इस श्लोक का पाठ भी किया जाता है। और […]

फाइटर की डायरी (मैत्रेयी पुष्पा) : अंजलि

“फाइटर की डायरी” ये मेरे कॉलेज लाईब्रेरी की पहली किताब है। वैसे मैं कंप्यूटर साइंस की स्टूडेंट हूं पर कहानियों और उपन्यास को पढ़ने में दिलचस्पी रखती हूं इसीलिए इस […]

साल 2019 की फ़िल्में कौन कितना पानी में – तेजस पूनिया

साल 2019 में लगभग 100 से भी ऊपर फ़िल्में रिलीज हुई। कुछ बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाती नजर आईं तो कुछ ने दिलों में जगह बनाने की कोशिश की। आज […]